NPR-जनगणना 2021, आप के जानने योग्य बाते

वर्ष 2021 की जनगणना भारत की 16वीं और आज़ादी के बाद 8वीं राष्ट्रीय जनगणना है। इस जनगणना में कुल 34 सवाल पूछे जाएंगे, जो कि वर्ष 2011 की जनगणना से 5 अधिक होंगी।वर्तमान में भारत के महापंजीयक एवं जनगणना आयुक्त विवेक जोशी है।

जनगणना 2021:
वर्ष 2021 की जनगणना कुल 16 भाषाओं में होगी। इस जनगणना की पूरी प्रक्रिया में करीब 8754.23 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। डेटा कलेक्शन दो चरणों में किया जाएगा। प्रथम चरण, अप्रैल से सितंबर, 2020 तक हाउस लिस्टिंग और हाउसिंग सेंसस। द्वितीय चरण, 9 से 28 फरवरी, 2021 तक लोगों की गिनती ( जनगणना ) होगी। दोनों चरणों के पूर्ण बाद 1 मार्च से 5 मार्च के बीच जमा हुए डेटा की प्रोसेसिंग होगी।


जनगणना 2021 के लिए अधिसूचना 7 जनवरी, 2020 को जारी किया गया। जनगणना से संबंधित मकान सूचीकरण का कार्य 1 अप्रैल 2020 से 30 सितंबर 2020 तक।

जनगणना 2021में पुछे जाने वाले सवाल:-
1. बिल्डिंग नंबर (म्यूनिसिपल या स्थानीय अथॉरिटी नंबर) 2. हाउस नंबर 3. मकान की छत, दीवार और सीलिंग में मुख्य रूप से इस्तेमाल हुआ मटीरियल 4. मकान का इस्तेमाल किस उद्देश्य से हो रहा है 5. मकान की स्थिति 6. मकान का नंबर 7. घर में रहने वाले लोगों की संख्या 8. घर के मुखिया का नाम 9. मुखिया का लिंग 10. क्या घर के मुखिया अनुसूचित जाति/जनजाति या अन्य समुदाय से ताल्लुक रखते हैं 11. मकान का ओनरशिप स्टेटस 12. मकान में मौजूद कमरे 13. घर में कितने शादीशुदा जोड़े रहते हैं 14. पीने के पानी का मुख्य स्रोत 15. घर में पानी के स्रोत की उपलब्धता 16. बिजली का मुख्य स्रोत  17. शौचालय है या नहीं 18. किस प्रकार के शौचालय हैं 19. ड्रेनेज सिस्टम 20. वॉशरूम है या नहीं 21. रसोई घर है या नहीं, इसमें एलपीजी/पीएनजी कनेक्शन है या नहीं 22. रसोई के लिए इस्तेमाल होने वाला ईंधन 23. रेडियो/ट्रांजिस्टर 24. टेलिविजन 25. इंटरनेट की सुविधा है या नहीं 26. लैपटॉप/कंप्यूटर है या नहीं 27. टेलिफोन/मोबाइल फोन/स्मार्टफोन 28. साइकल/स्कूटर/मोटरसाइकल/मोपेड 29. कार/जीप/वैन 30. घर में किस अनाज का मुख्य रूप से उपभोग होता है 31. मोबाइल नंबर (जनगणना संबंधित संपर्क करने के लिए)


NPR:
राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के उन्नयन के लिए 3,941.35 करोड़ रुपये का बजट है। 30 लाख लोग जनगणना और एनपीआर(NPR) के काम में लगेंगे, स्‍थानीय स्‍तर पर 2900 दिनों के लिए करीब 48 हजार लोगों को लगाया जाएगा, जिसके लिए 12 हजार करोड़ से ज्यादा का बजट है।
नोट: एनपीआर(NPR) अप्रैल और सितंबर 2020 के बीच असम को छोड़कर देश के अन्य सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में लागू होगा।

कुछ राज्यो के लिए तारीखों में बदलाव: बर्फपात से प्रभावित इलाके, जैसे कि जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 11 सितंबर से लेकर 30 सितंबर 2020 के बीच जनगणना की जाएगी। इन राज्यो में रिवीजन राउंड 1 से 5 अक्टूबर के बीच होगा।


EmoticonEmoticon