क्या है ब्लैक फंगस (म्यूकोरमाइसिस) रोग


म्यूकोरमाइसिस (Mucormycosis) फंगस (ब्लैक फंगस) इंफेक्शन से जुड़ी बीमारी है। इस फंगस के स्पोर्स या बीजाणु वातावरण में प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं। आमतौर पर इनसे कोई ख़तरा नहीं, लेकिन शरीर का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर हो, तो यह फंगस जानलेवा साबित हो जाते हैं। 

शुगर के मरीज इस बीमारी के ज्यादा ज्यादा शिकार हो रहे हैं। इस रोग में आंख की नसों के पास फंगस इंफेक्शन जमा हो जाता है, जो सेंट्रल रेटिनल आर्टरी का ब्लड फ्लो बंद कर देता है। इसकी वजह से आंखों की रोशनी चली जाती है। 


ब्लैक फंगस कैसे शरीर हो प्रभावित करता है ?

ब्लैक फंगस आंख, नाक के रास्ते ये फंगस दिमाग तक पहुंचता है।साइनस, मस्तिष्क और फेफड़े को प्रभावित करता है। यह रास्ते में आने वाली हड्डी और त्वचा को नष्ट कर देता है और इसमें मृत्यु दर काफी ज्यादा है। 


ब्लैक फंगस के लक्षण :

चेहरे का एक तरफ से सूज जाना, सिरदर्द होना, नाक बंद होना, उल्टी आना, बुखार आना, चेस्ट पेन होना, साइनस कंजेशन, मुंह के ऊपर हिस्से या नाक में काले घाव होना जो बहुत ही तेजी से गंभीर हो जाते हैं। Source


बचाव :

कोरोना वायरस से ठीक हो चुके लोगों को हाइपरग्लाइसिमिया पर नियंत्रण करना जरूरी है। इसके अलावा डायबिटिक मरीजों को ब्लड ग्लूकोज लेवल चेक करते रहना चाहिए।

स्टेरॉयड लेते वक्त सही समय, सही डोज और अवधि का ध्यान रखना भी बहुत आवश्यक है।



वर्तमान में चर्चा में क्यों है ?

कोरोना संक्रमित मरीज या कोरोना से स्वस्थ हुए कुछ मरीजों में ब्लैक फंगस इंफेक्शन देखा गया है।


Source : अमर उजाला

नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.