Olympic Games Tokyo 2020 - विजेताओं की सूची

 

Olympic Games Tokyo 2020 का आयोजन 24 जुलाई 2020 से 9 अगस्त 2020 के बीच टोक्यो, जापान, में होना था। परंतु कोरोना महामारी की वजह से इसे स्थगित कर दिया गया। अब ओलंपिक खेलो की आयोजन तिथि 23 जुलाई 2021 से 08 अगस्त 2021 है। खेलों की मेजबानी के लिए अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति ने 7 सितम्बर 2013 को ब्यूनस आयर्स, अर्जेंटीना, में अपने 125वें अधिवेशन में टोक्यो को मेजबान शहर घोषित किया था।


Tokyo 2020 पदक :

इतिहास में पहली बार ओलिंपिक में भारत को 7 पदक मिले है। भारत के खाते में कुल 35 ओलिंपिक पदक हो गए हैं। ओलिंपिक में भारत ने अब तक कुल 10 स्वर्ण पदक जीते है, जिसमें से हॉकी में अकेले 8 स्वर्ण पदक है।


विजेताओं की सूची:

  1. मीराबाई चानू – वेटलिफ्टिंग ( 49 किग्रा ) – रजत पदक
  2. पीवी सिंधु – बैडमिंटन – कास्य पदक
  3. लवलीना बोरगोहेन – बॉक्सर – कांस्य पदक
  4. पुरुष हॉकी टीम – कांस्य पदक जीता
  5. रवि कुमार दहिया – कुश्ती (57 किग्रा) – रजत पदक
  6. बजरंग पुनिया – कुश्ती ( 65 किग्रा) – कांस्य पदक
  7. नीरज चोपड़ा – जैवलिन थ्रोअर – स्वर्ण पदक


विशेष:

  1. मीराबाई चानू ने 21 वर्षो के बाद भारोत्तालन में भारत को पदक दिलाया है। इससे पहले, मणिपुर की 26 वर्षीय भारोत्तोलक ने कुल 202 किग्रा (87 किग्रा + 115 किग्रा) से कर्णम मल्लेश्वरी ने 2000 सिडनी ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था।
  2. पीवी सिंधु भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गई हैं,  जिन्होंने लगातार दो ओलंपिक खेलों में पदक जीता है। पीवी सिंधु
  3.  ने इससे पहले रियो ओलंपिक में सिल्‍वर मेडल प्राप्‍त किया था। इससे पहले पुरुष वर्ग में रेसलर सुशील कुमार भी भारत के लिए लगातार दो ओलंपिक में दो पदक प्राप्‍त कर चुके हैंं।
  4. भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ओलंपिक में जर्मनी को हराकर कांस्य पदक जीता। वर्ष 1980 के बाद से भारत ने ओलंपिक खेलों में कोई मेडल नहीं जीता था।
  5. रवि कुमार दहिया ने कुश्ती के 57 किग्रा वर्ग में देश के लिए रजत मेडल जीता। फाइनल मैच में रवि कुमार दहिया और रूस के पहलवान जवुर यूगेव आमने सामने थे।
  6. जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने जैवलिन थ्रो में गोल्ड जीता है। उनका सर्वश्रेष्ठ थ्रो 87.58 मीटर का है। ओलंपिक की व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को 13 साल बाद दूसरा गोल्ड मिला। बीजिंग ओलंपिक 2008 में पहली बार स्वर्ण पदक जीतने का कारनामा दिग्गज शूटर अभिनव बिंद्रा ने किया था।
  7. फवाद मिर्जा 20 वर्षों में पहले ऐसे घुड़सवार हैं, जिन्होंने ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व किया।


अन्य :

मनिका बत्रा ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 में पहले दौर का मैच जीतकर इतिहास रचा। वह 1992 के बाद ओलिंपिक के पहले दौर में जीतने वाली पहली भारतीय महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं।

वंदना कटारिया ओलंपिक इतिहास में हॉकी में हैट्रिक लगाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई हैं। वर्ष 1984 ओलंपिक में पुरुष हॉकी खिलाड़ी विनीत शर्मा ने गोल की हैट्रिक लगाई थी।

सान मारिनो (San Marino) ओलंपिक पदक जीतने वाला सबसे छोटा देश बन गया है।


कोच / प्रशिक्षक
भारतीय पदक विजेताओं एवं प्रमुख खिलाड़ियों के प्रशिक्षको के बारे में संछिप्त जानकारी।

उवे होन (Uwe Hohn) एक सेवानिवृत्त जर्मन ट्रैक और फील्ड एथलीट और स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा के कोच है। वे 104.80 मीटर (343 ft 9+3⁄4 इंच) के अपने विश्व रिकॉर्ड ( वर्ष 1984 ) के साथ 100 मीटर या उससे अधिक की भाला फेंकने वाले दुनिया के एकमात्र एथलीट हैं। एक नया भाला डिजाइन 1986 में लागू किया गया था और रिकॉर्ड को फिर से शुरू करना पड़ा, इस प्रकार होन का निशान "शाश्वत विश्व रिकॉर्ड" बन गया। 








नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.