कंप्यूटर जनरेशन ( पीढियां ) Generation Of Computer



प्रारंभिक कंप्यूटर विकास के बाद जब आधुनिक कंप्यूटरो (ELECTRONIC COMPUTER) का विकास शुरू हुआ तो उन कंप्यूटरों में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न उपकरणों के विकास के आधार पर इन कंप्यूटरों को अलग-अलग श्रेणियों में बांटा गया, जिन्हें पीढ़ी (GENERATION) कहा जाता है।


पहली पीढ़ी (1940-1950)

मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक - वैक्यूम ट्यूब

मुख्य मेमोरी - चुंबकीय ड्रम और चुंबकीय टेप

प्रोग्रामिंग भाषा - मशीनी भाषा

शक्ति - बहुत अधिक बिजली की खपत करें और बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न करें।

गति और आकार - बहुत धीमा और आकार में बहुत बड़ा (अक्सर पूरे कमरे को घेर लेता है)।

इनपुट/आउटपुट डिवाइस - पंच कार्ड और पेपर टेप।

उदाहरण - ENIAC, UNIVAC1, IBM 650, IBM 701, आदि।


दूसरी पीढ़ी (1950-1960)

मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक – ट्रांजिस्टर

मेमोरी - चुंबकीय कोर और चुंबकीय टेप / डिस्क

प्रोग्रामिंग भाषा - ASSEMBLY (1949), FORTRAN (1957), ALGOL (1958), and COBOL (1959).

शक्ति और आकार - कम बिजली की खपत, कम गर्मी उत्पन्न, और आकार में छोटा (पहली पीढ़ी के कंप्यूटर की तुलना में)।

गति - गति और विश्वसनीयता में सुधार (पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में)।

इनपुट/आउटपुट डिवाइस - पंच कार्ड और चुंबकीय टेप।

उदाहरण- IBM 1401, IBM 7090 और 7094, UNIVAC 1107, आदि।


तीसरी पीढ़ी (1960-1970)

मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक - एकीकृत सर्किट (Integrated Circuit - IC)

मेमोरी - बड़ा चुंबकीय कोर, चुंबकीय टेप / डिस्क

प्रोग्रामिंग भाषा - उच्च स्तरीय भाषा BASIC (1964).

आकार - दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में छोटा, सस्ता और अधिक कुशल (इन्हें मिनी कंप्यूटर कहा जाता था)।

गति - गति और विश्वसनीयता में सुधार (दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में)।

इनपुट/आउटपुट डिवाइस- मैग्नेटिक टेप, कीबोर्ड, मॉनिटर, प्रिंटर आदि।

उदाहरण- IBM 360, IBM 370, PDP-11, UNIVAC 1108, आदि।


चौथी पीढ़ी (1970-1980)

मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक - Very large scale integrated (VLSI) और माइक्रोप्रोसेसर।

मेमोरी - सेमीकंडक्टर मेमोरी (जैसे RAM, ROM, आदि)

RAM (रैंडम-एक्सेस मेमोरी) - कंप्यूटर में उपयोग किया जाने वाला एक प्रकार का डेटा स्टोरेज (मेमोरी एलिमेंट) जो प्रोग्राम और डेटा के अस्थायी स्टोर।

ROM (रीड-ओनली मेमोरी) - कंप्यूटर में उपयोग किया जाने वाला एक प्रकार का डेटा स्टोरेज जो डेटा और प्रोग्राम को स्थायी रूप से स्टोर करता है।

प्रोग्रामिंग भाषा - उच्च स्तरीय भाषा, C, SQL आदि।

तीसरी और चौथी पीढ़ी की दोनों भाषाओं का मिश्रण

आकार - तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में छोटा, सस्ता और अधिक कुशल।

गति - तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में सुधार हुए।

इनपुट/आउटपुट डिवाइस - कीबोर्ड, पॉइंटिंग डिवाइस, ऑप्टिकल स्कैनिंग, मॉनिटर, प्रिंटर आदि।

नेटवर्क - एक साथ जुड़े दो या दो से अधिक कंप्यूटर सिस्टम का समूह।

उदाहरण - IBM PC, STAR 1000, Apple II, Apple Macintosh, आदि।


पांचवी पीढ़ी (1980 - आज तक)

मुख्य इलेक्ट्रॉनिक घटक - Very large scale integrated (VLSI) की जगह Ultra Large Scale Integration (ULSI) का इस्तेमाल होने लगा जिस वजह से कंप्यूटरों का आकार भी कम हो गया।

गति - चौथी पीढ़ी की तुलना में अत्यधिक।

प्रोग्रामिंग भाषा - C++, Perl, Python, Java, PHP आदि।

इनपुट/आउटपुट - इनपुट के लिए आवाज (Voice) और टच स्क्रीन का इस्तेमाल और आउटपुट के लिए 3Dप्रिंटर्स का इतेमाल शुरू हुआ।

इस पीढ़ी के कंप्यूटर समानांतर प्रोसेसिंग हार्डवेयर और AI (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल होने लगा।

इस जनरेशन में Quantum computer का विकास शुरू हुआ।












नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.