महान भूमकाल विद्रोह १९१० ई.


• नेतृत्त्व- गुण्डाधुर (नेतानार के जमींदार)
• शासक- रूद्रप्रताप सिंह देव
• उद्देश्य - शोषण के विरूद्व
• दमनकर्ता - कैप्टन गेयर
• प्रतीक- लालमिर्च+आम कि टहनी,
• अंतिम सामना अलवार में

महान भूमकाल विद्रोह ( १९१० ई. ) बस्तर में हुआ एक व्यपक एवं बड़ा आंदोलन है।  भूमकाल का अर्थ भूकम्प या भूमि का कम्पन होता है।  इस विद्रोह के प्रमुख नेता थे - गुण्डाधुर, डेबरीधुर, कुँवर बहादुर सिंह, बाला प्रसाद, दुलार सिंह, नाजिर। छत्तीसगढ़ शासन ने गुण्डाधुर स्मृति में साहसिक कार्य तथा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए गुण्डाधूर सम्मान स्थापित किया गया है।

अन्य विद्रोह : 



EmoticonEmoticon