छत्तीसगढ़ में उद्यानिकी Chhattisgarh Me Udyaniki

छत्तीसगढ़ राज्य की मुख्य फसल धान है। छत्तीसगढ़ को मध्य भारत का धान ( चावल ) का कटोरा भी कहा जाता है।  राज्य में धान के अतिरिक्त, अनाज जैसे मक्का, कोदो-कुत्की और अन्य छोटे बाजरा, दलिया जैसे तुअर, कुल्थी, तिलहन जैसे मूंगफली, सोयाबीन, सूरजमुखी भी उगाए जाते हैं। उद्यानिकी फसलें आम, केला, अमरूद तथा अन्य फलों और विभिन्न प्रकार की सब्जियों को बढ़ाने के लिए यहाँ की जलवायु उपयुक्त है।

कृषि फसलों की तुलना में उद्यानिकी फसलों के उच्च मूल्य होने के कारण उद्यानिकी फसलों की लोकप्रियता बढ़ रही है। राज्य में बागवानी फसलों पर व्यवस्थित डेटा संग्रह के माध्यम से सांख्यिकीय आंकड़ों को तैयार करने एवं संकलन करने के लिए नए प्रयास किये जा रहे हैं। मौजूदा आंकड़े निचे दिए गए है।

  1. फल फसल - छत्तीसगढ़ राज्य फल एक प्रमुख बागवानी फसलें हैं आम, अमरूद, नींबू, लीची, काजू-अखरोट, चीकू, अलावा सीताफल, बेल, बेर, आंवला आदि हैं। इसके अलावा राज्य में कॉफ़ी एवं चाय की खेती के प्रयास किये जा रहे है। राज्य में वर्ष 2016-2017 में फल फसलों का कुल क्षेत्रफल 2,50,21 9 उत्पादन 24,77,0 9 4 मीट्रिक टन हैं। सरूगुजा और जशपुर जिले के उत्तरी पहाड़ी क्षेत्र लीची के उत्पादन के लिए उपयुक्त हैं। बस्तर और रायगढ़ जिले के पठार क्षेत्र में काजू को अच्छी तरह से उगाया जा सकता है। सुकमा जिले के दरभा क्षेत्र में कॉफी की खेती का प्रयास किया जा रहा है। 
  2. सब्जियां - ज्यादातर सब्जी फसलों जैसे सोलानेसी फसलों, कुकुर्बिट्स, गोभी, फूलगोभी आदि राज्य में बहुत अच्छी तरह उगाए जाते हैं। राज्य में वर्ष 2016-2017 में सब्जी फसलों का कुल क्षेत्र 4,63,251 हेक्टेयर तथा उत्पादन 65,56,502 मीट्रिक टन हैं।
  3. मसाले - लहसुन, हल्दी, मिर्च, अदरक, धनिया और मेथी राज्य में उगने वाले प्रमुख मसाले हैं। वर्ष 2016-2017 में मसाले का कुल क्षेत्रफल 96,617 तथा उत्पादन 6,83,333 मीट्रिक टन हैं।
  4. फूल – छत्तीसगढ़ फूलों की खेती के क्षेत्र में क्षेत्र बहुत कम है। राज्य में फूलों की खेती का रकबा वर्ष 2016-2017 में 12,169 हेक्टेयर तथा उत्पादन 56,215 मीट्रिक टन है।
  5. सुगंध और औषधीय पौधे - राज्य में औषधीय फसलों में अश्वगंधा, सर्पगंधा, सतवार, बुच, आओला, तिखुर एवं सुगंधित फसलों जैसे कि लेमनग्रास, पामारोजा, जमारोजा, पचौली, ई-सीट्रिडोरा शामिल है। वर्ष 2016-2017 में सुगन्धित और औषधीय फसलों का रकबा 8,543 हेक्टेयर तथा उत्पादन 60,791 मीट्रिक टन है।


EmoticonEmoticon