1857 की महान क्रांति में छत्तीसगढ़ का योगदान

भारत के इतिहास में 1857 की क्रांति का एक विशेष स्थान है। इस क्रांति की वजह से लोगो में राष्ट्रीयता की भावना का उदय हुआ। यह देश के अधिकांश भागो की तरह छत्तीसगढ़ भी इस क्रांति से प्रभावित रहा। इस क्रांति के समय भारत के गवर्नर जनरल लार्ड कैनिन थे। और छत्तीसगढ़ के डिप्टी कमिश्नर लैफ्टिनेंट स्मिथ थे।

छत्तीसगढ़ में निम्न विद्रोह हुए:
1) सोनाखान का विद्रोह
2) सम्बलपुर का विद्रोह
3) रायपुर का सैन्य विद्रोह

4) उदयपुर का विद्रोह:
1858 में सरगुजा के राजा कल्याण सिंह ने सैनिक संगठन के साथ विरोध किया था। कल्याण सिंह को 1859 में गिरफ्तार कर लिया गया और कालापानी की सजा हुई। अंग्रेजो का साथ बिंदेश्वरी प्रसाद सिंहदेव ने दिया था।

5) सोहागपुर का विद्रोह:
यह विद्रोह रायपुर में हुआ था। रायपुर के तत्कालीन कमिश्नर को विरोध को दबाने में असफलता मिली।


EmoticonEmoticon