Download Chhattiagarh Gyan App

संयुक्त राष्ट्र - United Nation : इतिहास एवं वर्तमान

'संयुक्त राष्ट्र संघ' (United Nation Organization - UNO) एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है। सेन फ्रांसिस्को में 26 जून, 1945 को इसके चार्टर पर हस्ताक्षर हुए, जो 24 अक्टूबर, 1945 को लागू हुआ। इसका मुख्यालय न्यूयार्क ( अमेरिका) में है। 24 अक्‍टूबर को प्रतिवर्ष संयुक्‍त राष्‍ट्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

स्थापना का इतिहास
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ (UNO) सामने आया। 12 जून, 1941 को लंदन में 5 राष्‍ट्रमंडल सदस्‍यों तथा 8 यूरोपीय निर्वासित सरकारों में हस्‍ताक्षरित अंरत-मैत्री उद्घोषणा में पहली बार सार्वजनिक रूप से अभिव्‍यक्‍त हुआ। इस घोषणा के उपरांत 14 अगस्‍त, 1941 को अटलांटिक चार्टर पर हस्‍ताक्षर किये गये। इस चार्टर को ही संयुक्‍त राष्‍ट्र के जन्‍म माना जाता है। इस चार्टर पर ब्रिटिश प्रधानमंत्री विंस्‍टन चर्चिल तथा अमेरिकी राष्‍ट्रपति फ्रेंकलिन डी. रूजवेल्‍ट द्वारा अटलांटिक महासागर में मौजूद एक युद्धपोत पर हस्‍ताक्षर किये गये थे, इस वजह से इसे अटलांटिक चार्टर नाम दिया गया।

1 जनवरी, 1942 को वाशिंगटन में अटलांटिक चार्टर का समर्थन करने वाले 26 देशों ने संयुक्‍त राष्‍ट्र की घोषणा पर हस्‍ताक्षर किये। यहां पहली बार राष्‍ट्रपति रूजावेल्‍ट द्वारा अभिकल्पित नाम संयुक्‍त राष्‍ट्र का प्रयोग किया गया इंग्‍लैण्‍ड, चीन, सोवियत संघ तथा अमेरिका द्वारा 30 अक्‍टूबर, 1943 को सामान्‍य सुरक्षा से संबंधित मास्‍कों घोषणा पर हस्‍ताक्षर किये गये।

1944 में अगस्‍त से अक्‍टूबर तक शांतिरक्षक संगठन की योजना बनाने के लिए सोवियत संघ, अमेरिका, चीन तथा ब्रिटेन के प्रतिनिधियों द्वारा वाशिंगटन के डम्‍बर्टन ओक्‍स एस्‍टेट में कई बैठकें आयोजित की गयीं‍ थी। अंत में अंतरराष्‍ट्रीय संगठन से संबंधित संयुक्‍त राष्‍ट्र सम्‍मेलन में 50 देशों के प्रतिनिधि शामिल हुए। 25 अप्रैल, 1945 को सेन फ्रांसिस्‍को में आयोजित इस सम्‍मेलन को सभी सम्‍मेलनों की समाप्ति करने वाला सम्‍मेलन माना जाता है।
26 जून, 1945 की सभी 50 देशों ने चार्टर पर हस्‍ताक्षर किये। लिखित अनुमोदनों की अपेक्षित संख्‍या अमेरिकी विदेश विभाग में जमा हो जाने के बाद 24 अक्‍टूबर, 1945 से चार्टर प्रभावी हो गया। 31 दिसंबर, 1945 तक सभी हस्‍ताक्षर देश चार्टर का अनुमोदन कर चुके थे।

संयुक्त राष्ट्र का मुख्य उद्देश्य विश्व में शांति बनाए रखना, मानव अधिकारों की रक्षा करना, अंतरराष्ट्रीय कानून को निभाने की प्रक्रिया जुटाना, सामाजिक और आर्थिक विकास उभारना, जीवन स्तर सुधारना और बीमारियों से लड़ना है।

प्रतीक चिह्न
संयुक्त राष्ट्र के प्रतिक चिह्न में जैतून की दो शाखाएं ऊपर की ओर खुली हैं और उनके बीच हल्की नीली पृष्टभूमि में विश्व का मानचित्र अंकित है।

सदस्य देश
संयुक्त राष्ट्र की स्थापना 24 अक्टूबर, 1945 को संयुक्त राष्ट्र अधिकार पत्र पर 50 देशों के हस्ताक्षर होने के साथ हुई। वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य है। 14 जुलाई 2011, से दक्षिण सूडान संयुक्त राष्ट्र का 193 वां सदस्य बना।
मूलतः केवल स्वतंत्र राष्ट्र ही संयुक्त राष्ट्र सदस्य बन सकते है और सारे वास्तविक सदस्य स्वतंत्र राष्ट्र है। परन्तु संयुक्त राष्ट्र के चार प्रारंभिक सदस्य - बेलारूस, भारत, फिलीपींस व यूक्रेन सदस्य बनाते समय पूर्णतः स्वतंत्र राष्ट्र नही थे।

भारत और संयुक्त राष्ट्र का संबंध
भारत उन प्रारंभिक सदस्यों में शामिल था, जिन्होंने 26 जून, 1945 में संयुक्तराष्ट्र चार्टर पर हस्ताक्षर किये। भारत ने 01 जनवरी, 1942 को वाशिंग्टन में संयुक्त राष्ट्र घोषणा पर हस्ताक्षर किए थे तथा 25 अप्रैल से 26 जून, 1945 तक सेन फ्रांसिस्को में ऐतिहासिक संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय संगठन सम्मेलन का भी हिस्सा था। भारत ने 1945 में जब सैन फ्रांसिस्‍को सम्‍मेलन में भाग लिया। इसके शिष्‍टमंडल का नेतृत्‍व सी.पी रामास्‍वामी मुदलियार ने किया था।

भारत राजनीतिक स्वतंत्रता समिति (24 प्रमुख समिति) का पहला अध्यक्ष भी निर्वाचित हुआ था जहां उपनिवेशवाद की समाप्ति के लिए उसके अनवरत प्रयास रिकार्ड पर हैं।