भारत की आर्थिक समीक्षा 2021-22 के मुख्य बिंदु - Economic survey 2022

केन्‍द्रीय वित्‍त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 31 जनवरी, 2022 को संसद में आर्थिक समीक्षा 2021-22 पेश की। जिसके मुख्य बिंदु निम्न है:


  • 2020-21 में 7.3 प्रतिशत की गिरावट के बाद 2021-22 में भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के 9.3 प्रतिशत (पहले अग्रिम अनुमान के अनुसार) बढ़ने का अनुमान है।
  • 2022-23 में जीडीपी की विकास दर 8 - 8.5 प्रतिशत रह सकती है। यह अनुमान विश्‍व बैंक और एशियाई विकास बैंक की क्रमश: 8.7 और 7.5 प्रतिशत रियल टर्म जीडीपी विकास की संभावना के अनुरूप है।
  • आईएमएफ के ताजा विश्‍व आर्थिक परिदृश्‍य अनुमान के तहत, 2021-22  और 2022-23 में भारत की रियल जीडीपी विकास दर 9 प्रतिशत और 2023-24 में 7.1 प्रतिशत रहने की संभावना है।
  • 2021-22 में कृषि और संबंधित क्षेत्रों के 3.9 प्रतिशत, उद्योग के 11.8 प्रतिशत और सेवा क्षेत्र के 8.2 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है।
  • अप्रैल-नवम्‍बर 2021 के दौरान पूंजी व्‍यय में सालाना आधार पर 13.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।
  • 31 दिसम्‍बर, 2021 तक विदेशी मुद्रा भंडार 633.6 बिलियन डॉलर के स्‍तर पर पहुंचा

वन :

भारत, विश्व में दसवां सबसे बड़ा वन क्षेत्र वाला देश है।

2010 से 2020 के दौरान वन क्षेत्र वृद्धि के मामले में 2020 में भारत का विश्व में तीसरा स्थान रहा।

2020 में भारत के कुल भौगोलिक क्षेत्र में कवर किए गए वन 24 प्रतिशत रहे यानी विश्व के कुल वन क्षेत्र का 2 प्रतिशत।


GDP

2019-20 - 4.0%

2020-21 - 7.3 %

2021-22 - 9.2 %

2022-23 - 8 - 8.5 % ( अनुमानित )


कृषि वानिकी और मात्स्यिकी

2019-20 - 2.6%

2020-21 - 4.3 %

2021-22 - 3.6 %

2022-23 - 3.9 % ( अनुमानित )


औद्योगिक वृद्धि दर

2019-20 - 5.3%

2020-21 - (-1.2)%

2021-22 - (-7.0)%

2022-23 - 11.8% ( अनुमानित )


सेवाएं

2019-20 - 7.2%

2020-21 - 7.2%

2021-22 - (-8.4)%

2022-23 - 8.2% ( अनुमानित )


विदेशी मुद्रा भंडार

2019-20 - 412.9

2020-21 - 477.8

2021-22 - 577

2022-23 - 633.6


नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.