छत्तीसगढ़ आर्थिक सर्वेक्षण 2021-22 Economic Survey Of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के सकल घरेलू उत्पाद "स्थिर भाव" पर (GSDP) वर्ष 2012-13, 2013-14, 2014-15, 2015-16, 2016-17, 2017-18, 2018-19, 2019-20, 2020-21एवं 2021-22 में वृद्धि क्रमशः 5.00, 10.00, 1.77, 2.57, 12.13, 3.01 11.28, 3.34, -1.37 एवं 11.54 तथा औसत वृद्धि 5.92 % दर्ज की गई। वर्ष 2021-22 में कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र की भागीदारी 16.73%, उद्योग क्षेत्र की भागीदारी 50.61% एवं सेवा क्षेत्र की भागीदारी 32.66% संभावित है।


कृषि

कृषि क्षेत्र में वर्ष 2016-17, 2017-18, 2018-19, 2019-20, 2020-21 एवं 2021-22 में वृद्धि (स्थिर भाव पर) क्रमश: 21.28 -10.90 13.49 3.21, 5.48 एवं 3.88 % अनुमानित है। वर्ष 2012-13 से 2021-22 तक औसत वृद्धि 6.09 % दर्ज की गई। 

वर्ष 2016-17 में अच्छी फसल होने के कारण वृद्धिदर 21.28 प्रतिशत रही, परंतु वर्ष 2017-18 में प्रमुख कृषि फसलों के उत्पादन के कमी के कारण कृषि क्षेत्र में 10.90 % कमी रही। 

नोट : वर्ष 2011-12 में जहाँ सकल घरेलू उत्पाद (स्थिर भाव) में कृषि क्षेत्र की हिस्सेदारी 18.10 % थी, वहीं निरंतर किंतु धीमी गति से घटते हुए वर्ष 2021-22 में 16.73 % पर आ गई है।


उद्योग

उद्योग क्षेत्र में खनन, विनिर्माण, विद्युत जलापूर्ति एवं निर्माण क्षेत्र शामिल हैं। वर्ष 2016-17 2017-18, 2018-19 2019-20, 2020-21 एवं 2021-22 में उद्योग क्षेत्र में वृद्धि (स्थिर भाव पर) क्रमश: 5.19. 8.31 16.29 2.89, -3.89 एवं 15.44 % अनुमानित है। वर्ष 2012-13 से 2021-22 तक औसत वृद्धि 6.56 % दर्ज की गई। 

नोट : वर्ष 2011-12 में जहाँ सकल घरेलू उत्पाद (स्थिर भाव) में उद्योग क्षेत्र की हिस्सेदारी 47.27 % थी, जो वर्ष 2021-22 में 50.81 % सम्भावित है।


सेवा

सेवा क्षेत्र की हिस्सेदारी छत्तीसगढ़ के सकल घरेलू उत्पाद में विगत वर्षों में निरंतर बढ़ रही है। इस क्षेत्र के अंतर्गत व्यापार, होटल एवं जलपान गृह एवं अन्य सेवाओं की सर्वाधिक भागीदारी है। वर्ष 2016-17, 2017-18, 2018-19, 2019-20, 2020-21 तथा 2021-22 में (स्थिर भाव पर) क्रमश: 5.48, 1.79, 3.96, 8.24, -0.61 तथा 8.54 के वृद्धि अनुमानित है। वर्ष 2012-13 से 2021-22 तक औसत वृद्धि 5.04 प्रतिशत परिलक्षित हो रही है। 

नोट : वर्ष 2011-12 में जहाँ सकल घरेलू उत्पाद (स्थिर भाव) में सेवा क्षेत्र की हिस्सेदारी 34.63 % थी, यह वर्ष 2021-22 में 32.66 % अनुमानित है।


राजकीय आय

वर्ष 2021-22 के प्रचलित भावों में सकल राज्य घरेलू उत्पाद के अग्रिम अनुमान बाजार मूल्य में 4,00,06,080 लाख रू. अनुमानित है जो कि वर्ष में 2020-21 से 13.60 % अधिक है। वर्ष 2021-22 के स्थिर भाव (2011-12) में सकल राज्य घरेलू उत्पाद के अग्रिम अनुमान बाजार मूल्य पर 2,78,49,636 लाख रू. अनुमानित है जो कि वर्ष 2020-21 से 11.54 % अधिक है।


प्रति व्यक्ति आय (निवल राज्य घरेलू उत्पाद प्रचलित भाव के आधार पर ) छत्तीसगढ़ में वर्ष 2021-22 के अग्रिम अनुमान अनुसार 1,18,401 रू. वहीं अखिल भारत के लिए यह 1,50,326 रू. अनुमानित।





नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.