मिनीमाता (मीनाक्षी) : Minimata



जन्म - 15 मार्च, 1913
मृत्यु - 11 अगस्त, 1972 

मिनीमाता का जन्म में असम के नुवागांव जिले के ग्राम जमुनामुख में हुआ था। इनका मूल नाम मीनाक्षी एवं माता का नाम मतीबाई था। 1930 में 2 जुलाई को विवाह छत्तीसगढ़ के एक सतनामी समाज के गुरु अगमदास से हुआ। विवाहोपरांत पति के साथ राष्ट्रीय आंदोलन, दलितोत्थान एवं समाज सुधार गतिविधियों में भागीदारी की।  

वर्ष 1952 पति की मृत्यु के बाद रिक्त संसदीय क्षेत्र सारंगढ़ के उपचुनाव में विजयी होकर छत्तीसगढ़ क्षेत्र की प्रथम महिला सांसद बानी। वर्ष 1952 से 1972 तक लोकसभा में सारंगढ़, जांजगीर तथा महासमुंद क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। छत्तीसगढ़ साँस्कृतिक मंडल की मिनी माता अध्यक्षा रहीं। छत्तीसगढ़ कल्याण मज़दूर संगठन जो भिलाई में है, उसकी संस्थापक अध्यक्षा रहीं।

अपने संसदीय कार्य के अलावा, उन्होंने राज्य कांग्रेस कमेटी के महासचिव के रूप में कार्य किया। गुरु घासीदास सेवा संघ, हरिजन एजुकेशन सोसाइटी की अध्यक्ष एवं राज्य दलित वर्ग लीग उपाध्यक्ष रहीं। वह समाज कल्याण बोर्ड, रायपुर की सदस्य और जिला कांग्रेस कमेटी, रायपुर की सदस्य भी थीं।


11 अगस्त 1972 को भोपाल से दिल्ली जाते हुए पालम हवाई अड्डे के पास विमान दुर्घटना में मिनीमाता की मृत्यु हो गयी। छत्तीसगढ़ शासन ने उनकी स्मृति में महिला उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए मिनी माता सम्मान  वर्ष 2001 में किया है।

Source : loksabha





3 comments

This very sort but may sugetion minimata full details ok

सादर ऐसे गुरु माताजी को चरण वंदन जिसने समाज सुधार महिला सक्तिकरण के लिए अनेको काम किया उनके जयंती पर कोटि कोटि नमन 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏


EmoticonEmoticon