मोहिनेश्वर शिवालय - Mohineeshwar Shivalay

महारानी मन्दिर गुलमर्ग के मुख्य चारागाहों में से एक के किनारे पर स्थित एक सुन्दर मंदिर है। इसे डोगरा राजवंश का शाही मंदिर कहा जाता है। डोगरा राजवंश ने जम्मू और कश्मीर की तत्कालीन रियासत पर शासन किया था। भगवान शिव और देवी पार्वती को समर्पित यह मंदिर छोटी पहाड़ियों से घिरा है और इसे नगर के सभी जगहों से देखा जा सकता है। 

मंदिर रोज सुबह 6 बजे से शाम 9 बजे तक खुला रहता है। आगंतुक यहां होने वाली आरती में शामिल हो सकते हैंए जो दिन में दो बार होती है।


इतिहास :

इसे रानी मंदिर या मोहिनेश्वर शिवालय भी कहा जाता है। इसे वर्ष 1915 में महाराजा हरि सिंह की पत्नी मोहिनी बाई सिसोदिया ने बनवाया थाए जो इस मंदिर में पूजा अर्चना किया करती थीं। हिंदू वास्तुकला शैली में बना यह मंदिर काफी सुव्यवस्थित है। 

नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.