छत्तीसगढ़ का इतिहास - छत्तीसगढ़ के ३६ गढ़ ( History Of Chhattisgarh - The 36 Citadel of chhattisgarh )


कलचुरि शासन में गढ़ महत्वपूर्ण इकाई थी। छत्तीसगढ़ ३६ में विभाजित था। छत्तीसगढ़ में कलचुरियो की दो शाखाये थी
जानकारी : ब्रम्हदेव के खल्लारी शिलालेख
विभाजन  : शिवनाथ नदी ( उत्तर में रतनपुर शाखा एवं दक्षिण में रायपुर शाखा )।




रतनपुर के १८ गढ़ :
रतनपुर,
उपरोड़ा,
मारो,
विजयपुर,
खरौद,
कोटगढ़,
नवागढ़,
सोढ़ी,
ओखर,
पडरभट्ठा,
सेमरिया,
मदनपुर,
कोसगई,
करकट्टी,
लाफा,
केंदा,
मातीन,
पेण्ड्रा,

रायपुर के १८ गढ़  :
रायपुर,
पाटन,
सिगमा,
सिंगारपुर,
लवन,
अमीर,
दुर्ग,
सारधा,
सिरसा,
मोहदी,
खल्लारी,
सिरपुर,
फिंगेश्वर,
सुवरमाल,
राजिम,
सिंगारगढ़,
टेंगनागड़,
अकलवाड़ा,