मोंहरी - पारंपरिक संगीत वाद्ययंत्र छत्तीसगढ़ - Traditional musical instruments Chhattisgarh

मोंहरी एक बांसुरी के समान वाद्ययंत्र है जो बांस के टुकड़ों का बना होता है। इसमें छः छेद होते हैं। इसके अंतिम सीरे में पीतल का कटोरीनुमा लगा होता है। एवं इसे ताड़ के पत्ते के सहारे बजाया जाता है । 

मोंहरी को मुख्यतः गंड़वा बाजा के साथ इसका उपयोग होता है ।