भारत में शहीद दिवस - Bharat Me Shahid Diwas


भारत में कई तिथियाँ शहीद दिवस के रूप में मनायी जातीं हैं, जिनमें मुख्य हैं- 30 जनवरी, 23 मार्च, 17 नवम्बर तथा 19 नवम्बर।

भारत में मनाये जाने वाले शहीद दिवस निम्न है :-

30 जनवरी:-
30 जनवरी 1948 को दिल्‍ली के बिड़ला भवन में शाम की प्रार्थना सभा से उठ कर जाते समय राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या नाथूराम गोडसे द्वारा कर दी गई थी।

23 मार्च:-
23 मार्च 1931 के दिन अंग्रेजों के द्वारा क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी पर लटका दिया गया था।
अदालती आदेश के मुताबिक क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को 24 मार्च, 1931 को सुबह क़रीब 8 बजे फाँसी लगाई जानी थी। लेकिन 23 मार्च, 1931 को ही इन तीनों को देर शाम क़रीब 7 बजकर 33 मिनट पर लाहौर जेल में फाँसी लगा दी गई और शव रिश्तेदारों को न देकर रातो-रात सतलज नदी के किनारे जला दिए गया।

13 जुलाई:-
जम्मू और कश्मीर में रॉयल सैनिको द्वारा मारे गए लोगो के याद में13 जुलाई को शाहिद दिवस मनाया जाता है। वर्ष 1931 में 13 जुलाई को कश्मीर के महाराजा हरिसिंह के समीप प्रदर्शन के दौरान रॉयल सैनिकों द्वारा उनको मार दिया गया था।

21 अक्टूबर:-
अक्टूबर,1959 में लद्दाख में भारतीय पुलिस की एक छोटी टुकड़ी के जवानों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिये थे तभी से प्रति वर्ष 21 अक्टूबर को पूरे देश में दिवंगत शूरवीरों की स्मृति में "पुलिस शहीद दिवस" मनाया जाता है।

17 नवंबर:-
पंजाब के शेर के नाम से मशहूर, लाला लाजपत राय की पुण्यतिथि को उड़ीसा में 17 नवंबर को शहीद दिवश के रूप में मनाया जाता है।
सन् 1928 में इन्होंने साइमन कमीशन के विरुद्ध एक प्रदर्शन में हिस्सा लिया, जिसके दौरान हुए लाठी-चार्ज में ये बुरी तरह से घायल हो गये और अन्तत: 17 नवम्बर सन् 1928 को इनकी मृत्यु होगई।

19 नवंबर:-
वर्ष 1857 की क्रांति के दौरान अपने जीवन का बलिदान करने वाले लोगो की याद में, झाँसी, मध्य प्रदेश में 19 नवंबर (रानी लक्ष्मीबाई का जन्मदिवस) को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।


EmoticonEmoticon