छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जनजाति संबंधित प्रश्नोत्तरी


छत्तीसगढ़ फूड इस्पेक्टर, हॉस्टल वार्डन एवं छत्तीसगढ़ पटवारी 2018 के लिए कंप्यूटर संबंधित प्रश्नोतरी:

छत्तीसगढ़ की कौन-सी जनजाति अपने आप को मेटाबूम कहलाना पसंद करते हैं
-अबुझमाड़िया

माड़िया जनजाति द्रविड़ प्रजाति की है, जात्रा पर्व के दौरान गौर नृत्य करते है इनके निवास स्थल को कहा जाता है:
-ढाना

निम्न में किस जनजाति को छत्तीसगढ़ सरकार ने विशेष पिछड़ी जनजाति में अलग से शामिल किया है ?
-पण्डो एवं भुजिया

दोरला जनजाति बहुल जिला है-
-दन्तेवाड़ा

उस जनजाति में बिंदरी, नवाखाई, जवांरा, आदि पर्व होते हैं इनमें मंगनी विवाह, राजी-बाजी विवाह प्रचलित हैं। इनकी मूल बोली भरनोटी या भरियाटी है।
-भारिया जनजाति

छत्तीसगढ़ में सावन मास के हरेली अमावस्या को लेकर भादो मास की पूर्णिमा तक कौन सा नृत्य किया जाता है।
-गेंडी नृत्य

"हनालगट्टा" नामक स्मृति स्तंभ कौन सी अनुसूचित जनजाति बनाते है?
-माड़िया

"पारद" क्या है?
- शिकार

"कुडास" और "किसान" किस अनुसूचित जनजाति की उपजातियाँ है?
- ओराव

"खुड़िया रानी" किस जनजाति की मुख्य देवी है?
- कोरवा

"नाहर" एक उप जनजाति है:
- बैगा की

"सिंगरी" देव किस जनजाति के प्रमुख देव है?
- कोरकू

"तीर" किस जनजाति का प्रतीक चिह्न है?
- बिंझवार

किस जनजाति के पूजा स्थल को बगिया कहा जाता है:
-उरांव


EmoticonEmoticon