21 मार्च का इतिहास


इतिहास में आज का दिन।

1349: जर्मनी के एरफर्ट शहर में ब्लैक डेथ दंगों में तीन हजार यहूदियों का कत्ल कर दिया गया।
1413: हेनरी पंचम इंग्लैंड के राजा बने।
1791: ब्रितानी सेना ने टीपू सुल्तान से बंगलुरु छीन लिया।
1836: कोलकाता में पहले सार्वजनिक पुस्तकालय की शुरुआत, अब इसका नाम नेशनल लाइब्रेरी है।
1857: जापान की राजधानी टोक्यो में आए विध्वंसक भूकंप में करीब एक लाख सात हजार लोगों की मौत हो गई।
1858: लखनऊ के विद्रोही सिपाहियों ने आत्मसमर्पण किया।
1887: बम्बई में प्राथना समाज की स्थापना.
1954: पहले फिल्मफेयर पुरस्कार समारोह में सिर्फ 5 पुरस्कार रखे गए थे, जिसमें दो बीघा जमीन को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला। इस फिल्म के निर्देशक बिमल रॉय को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार मिला. सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए दिलीप कुमार (दाग), सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए मीना कुमारी (बैजू बावरा) और इसी फिल्म के लिए नौशाद को सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का पुरस्कार मिला।
1975 : आधी रात को आपातकाल की घोषणा कर दी गई थी, जो 21 मार्च 1977 तक लगी रही। तत्कालीन राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद ने प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के अनुरोध पर धारा 352 के तहत आपातकाल की घोषणा की थी। लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने तो इसे भारतीय इतिहास की सबसे 'काली अवधि' की संज्ञा दी थी।
1971: भारतीय क्रिकेटर सुनिल गावस्कर ने अपना पहला टेस्ट शतक लगाया।

जन्म :
1916 : शहनाईवादक उस्ताद बिस्मिल्ला खां का जन्म हुआ।
1978: बॉलीवुड अभिनेत्री रानी मुखर्जी का जन्‍म हुआ था।


EmoticonEmoticon