28 मार्च का इतिहास


देश और दुनिया के इतिहास में आज का दिन।

1552: सिक्खों के दूसरे गुरु का गुरु अंगद देव का निधन हुआ।
1561: अकबर ने मालवा की राजधानी सांरगपुर पर हमला कर बाजबहादुर को हरा दिया।
1891: विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप आयोजित हुआ।
1930: तुर्की के कई शहरों का नाम बदल दिया गया। राजधानी 'अंगोरा' को 'अंकारा' और 'कॉन्सटानिनोपल' का नाम बदल कर 'इंस्तांबुल' कर दिया गया था.
1965: डॉक्टर मार्टिन लूथर किंग ने काले अमेरिकियों के लिए एलाबामा की राजधानी मॉटगुमरी में 25 हजार लोगों के साथ मार्च निकाला. उस समय डॉक्टर मार्टिन लूथर किंग काले अमेरिकियों के अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे थे।
1963: यह समय रूस और अमेरिका के लिए बेहद कठिन था. दरअसल रूस और अमेरिका के बीच शीत युद्ध चल रहा था, जिसके बीच एक अमेरिकन लड़की ने रूस के  लड़के से  शादी कर ली. सेवियत सरकार द्वारा इस शादी का काफी विरोध किया गया था।
1977 : मोरारजी देसाई ने भारत में सरकार बनायी।
2015: सायना नेहवाल दुनिया की नंबर एक महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं।


EmoticonEmoticon