सीधी कार्रवाई दिवस / डायरेक्ट एक्शन डे / कलकत्ता दंगा

भारत की स्वतंत्रता के पूर्व मुस्लिम लीग द्वारा मुस्लिम देश की मांग के लिए 'सीधी कार्रवाई या प्रत्यक्ष कारवाही (Direct Action )' की घोषणा से 16 अगस्त, वर्ष 1946 को कोलकाता में भीषण दंगे शुरु हो गये। इसे कलकत्ता दंगा या कलकत्ता का भीषण हत्याकांड (Great Calcutta Killing) कहते हैं।

अंतरिम सरकार में 14 सदस्य होंगे, जिनमें 6 कांग्रेस मनोनीत करेगी तथा 5 को मुस्लिम लीग तथा अन्य तीन अल्पसंख्यकों के प्रतिनिधि होगें। मुस्लिम लीग को वायसराय का यह प्रस्ताव मंजूर नहीं था। 29 जुलाई 1946 को जिन्ना ने बम्बई में मुस्लिम लीग की बैठक बुलाई। इसमें पाकिस्तान की मांग करते हुए जिन्ना ने 16 अगस्त 1946 को 'सीधी कार्रवाई' की घोषणा की।

कलकत्ता में 72 घंटों के भीतर 4,000 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवाई और 100,000 निवासी बेघर हो गए। नोआखली दंगे का प्रमुख केन्द्र रहा, दंगों के दौरान लगभग 6,000 लोग मारे गये और 20,000 लोग या तो घायल हुए या फिर उनके साथ बलात्कार हुआ।

Source :
https://en.m.wikipedia.org/wiki/Direct_Action_Day
https://books.google.co.in/books?id=RHI9DwAAQBAJ