Download Chhattiagarh Gyan App

गोपालकृष्ण गोखले का छत्तीसगढ़ आगमन

स्वतंत्रता सेनानी गोपालकृष्ण गोखले का छत्तीसगढ़ के रायपुर में मई, 1915 को आगमन हुआ था। का उनके आगमन का उद्देश्य बुद्धिजीवियों को देश की राजनीति से जागृत एवं सक्रिय करना था ।


उनके आगमन पर वामन राव लाखे के निवास पर एक सम्मेलन आयोजित किया गया था। इस सम्मेलन में रायपुर से पं. रविशंकर शुक्ल, लक्ष्मण राव उदयगीरकर, वामन राव लाखे; धमतरी से नारायण राब मेघावाले, नत्थूजी जगताप, बाबू छोटे लाल; राजनांदगांव से ठा. प्यारेलाल सिंह; राजिम से पं. सुंदर लाल शर्मा आदि शामिल हुए।

इस सम्मेलन में यह निर्णय लिया गया कि ‘स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ का प्रचार गाँव-गाँव में किया जाए।

नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.