राजपुर ( बस्तर ) - Rajpur ( Bastar )

राजपुर, छत्तीसगढ़ में बस्तर विकासखंड अंर्तगत नारंगी नदी किनारे स्थित एक ग्राम पंचायत है। यहाँ नागवंशी शासको से संबंधित महल के भग्नावशेष मिले है।


गांव के बाहर जंगलों में करीब करीब दो एकड़ में महल के अवशेष बिखरे पड़े हैं। स्थानीय ग्रामीण इसे छेरकीन महल भी कहते हैं। महल के सामने भव्य प्रवेश द्वार आज भी स्थित है।


इतिहास :

वर्ष 1065 ई. का राजपुर अभिलेख यह प्रमाणित करता है कि नागवंशी बोदरागढ़ नरेश मधुरांतक देव का आधिपत्य इस क्षेत्र पर था। उसने नरबलि के लिए राजपुर नामक गांव माणिकेश्वरी देवी मंदिर को अर्पित किया था। जब यहां चालुक्य राजाओं का आक्रमण हुआ तो उस दौर के राजा-रानी की महल में हत्या कर दी गई थी।वर्ष 1774 तक यहां चालुक्य राजाओं का कब्जा रहा। इसके बाद इस क्षेत्र में नागपुर के भोंसले का अधिपत्य हो गया।


Source :

News18

नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.