हिमाचल प्रदेश का आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 - Economy Survey Of Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश का आर्थिक सर्वेक्षण मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा 8 मार्च 2018 को सदन के पटल पर पेश किया गया। हिमाचल प्रदेश में प्रति-व्यक्ति आय में तो वृद्धि लेकिन प्रदेश की विकास दर में गिरावट दर्ज की गई है।

हिमाचल प्रदेश आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य:

1. वित्त वर्ष 2017-18 में राज्य का विकास दर 6.9 प्रतिशत थी, जबकि आगामी वित्त 2018-19 वर्ष के लिए 6.3% विकास दर का अनुमान लगाया गया है।
2. अग्रिम अनुमानों के अनुसार प्रचलित भावों पर प्रति व्यक्ति आय 2017-18 में 1,58,462 अनुमानित है जोकि वर्ष 2016-17 में 1,46,294 की तुलना में 8.3 प्रतिशत की वृद्वि दर्शाती है।
3. दिसम्बर 2017 तक हिमाचल प्रदेश सरकार ने कुल 4,613 करोड़ रुपये का राजस्व (Revenue) एकत्रित किया।
4. कृषि एवं बागवानी: दिसम्बर 2017 तक हिमाचल प्रदेश में फल उत्पादन लगभग 5 लाख टन रहा, पिछले वित्त वर्ष में फल उत्पादन 6.12 लाख टन था। सेब के उत्पादन में भी कमी आई, पिछले वित्त वर्ष में सेब का उत्पादन 4.68 लाख था, जबकि इस दिसम्बर, 2017 सेब का उत्पादन 4.28 था।
5. इस वित्त वर्ष कृषि उत्पादन 16.45 लाख मीट्रिक टन रहने का अनुमान है, पिछले वित्त वर्ष में कृषि उत्पादन 17.45 लाख मीट्रिक टन था।
6. 2017-18 वित्त वर्ष हिमाचल की बिजली उत्पादन क्षमता (hydropower potential) 27,436 मेगावाट आंकी गयी है, अब तक केवल 10,519 मेगावाट बिजला का उत्पादन ही हिमाचल प्रदेश में किया जा रहा है।
7. रोज़गार कार्यालय में पंजीकृत बेरोजगार युवाओं की संख्या 8.34 लाख था।
8. पर्यटन: वित्त वर्ष 2017-18 में 1 करोड़ 96 लाख पर्यटक हिमाचल प्रदेश में आये, जबकि वित्त वर्ष 2016-17 में 1 करोड़ 84 लाख पर्यटक हिमाचल में आये थे।


EmoticonEmoticon