चौधरी चरण सिंह से संबंधित 10 प्रमुख तथ्य



चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 को उत्तर प्रदेश में हुआ था। उन्होंने 28 जुलाई 1979 और 14 जनवरी 1980 के बीच भारत के 5वें प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया। उनके जन्म दिवस को भारत में किसान दिवस के रूप में मनाया जाता है। 29/05/1987 को नई दिल्ली में उनकी मृत्यु हो गई थी। चौधरी चरण सिंह जी के जीवन से संबंधित प्रमुख तथ्य जिन्हें आप को जानने चाहिए।


चौधरी चरण सिंह से संबंधित 10 प्रमुख तथ्य :

  1. फरवरी 1937 में वे छपरौली (बागपत) के निर्वाचन क्षेत्र से 34 वर्ष की आयु में संयुक्त प्रांत की विधान सभा के लिए चुने गए।
  2. वर्ष 1938 में उन्होंने विधानसभा में एक कृषि उपज बाजार विधेयक पेश किया। विधेयक का उद्देश्य व्यापारियों की लूट से किसानों के हितों की रक्षा करना था।
  3. वर्ष 1930 में उन्हें नमक कानूनों के उल्लंघन के लिए अंग्रेजों द्वारा 12 वर्षो के लिए जेल भेज दिया गया था।
  4. व्यक्तिगत सत्याग्रह आंदोलन के लिए उन्हें नवंबर 1940 में एक साल के लिए जेल में डाल दिया गया था।
  5. अगस्त 1942 में उन्हें डीआईआर के तहत अंग्रेजों द्वारा फिर से जेल में डाल दिया गया और नवंबर 1943 में रिहा कर दिया गया।ण
  6.  चौधरी चरण सिंह ने 1967 में कांग्रेस पार्टी छोड़ दी, और अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी, भारतीय क्रांति दल का गठन किया।
  7. चरण सिंह 1967 में और बाद में 1970 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
  8. 1975 में, चरण सिंह को जेल में डाल दिया गया था जब भारतीय प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल की स्थिति घोषित की और अपने सभी राजनीतिक विरोधियों को जेल में डाल दिया।
  9. 1979 में वित्त मंत्री और उपप्रधानमंत्री के रूप में राष्ट्रीय कृषि व ग्रामीण विकास बैंक (NABARD) की स्थापना की।
  10. चौधरी चरण सिंह के द्वारा लिखित प्रमुख किताबें एवं रूचार-पुस्तिकाएं : ‘ज़मींदारी उन्मूलन’, ‘भारत की गरीबी और उसका समाधान’, ‘को-ऑपरेटिव फार्मिंग एक्स-रयेद्’, ‘किसानों की भूसंपत्ति या किसानों के लिए भूमि, ‘प्रिवेंशन ऑफ़ डिवीज़न ऑफ़ होल्डिंग्स बिलो ए सर्टेन मिनिमम’














नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.