यू तिरोत सिंग (U Tirot Sing) - स्वतंत्रता संग्राम सेनानी

यू तिरोत सिंग (U Tirot Sing) एक भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। इनका जन्म वर्ष 1802 में वर्तमान मेघालय के मैरंग में हुआ था। वे खासी पहाड़ियों के हिस्से नोंगखलाव के Syiem (प्रमुख) थे। उसका उपनाम सिम्लिह (Syiemlieh) था।


अंग्रेजों के खिलाफ युद्ध :

खासी पहाड़ियों पर कब्जा कारने के लिए इन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ युद्ध किया। अंग्रेजो के साथ हुए इस संघर्ष को आंग्ल-खासी युद्ध कहा जाता है।

खासियों ने 4 अप्रैल 1829 को नोंगखलाव में ब्रिटिश गैरीसन पर हमला किया। उसके लोगो ने दो ब्रिटिश अधिकारियों को मार डाला, जिसके बाद ब्रिटिश ने यू तिरोत सिंग और अन्य खासी प्रमुखों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू कर दिया।

खासियों के पास आधुनिक हथियारों की कमी थी और उनके पास केवल तलवारें, ढालें, धनुष और बाण थे। वे ब्रिटिश प्रकार के युद्ध में अप्रशिक्षित थे, इसलिए, उन्होंने गुरिल्ला युद्ध नीति का सहारा लिया, जिस वजह से यह संघर्ष लगभग चार वर्षों तक चला।


मृत्यु :

यू तिरोत सिंग को जनवरी 1833 में अंग्रेजों ने पकड़ लिया और ढाका भेज दिया गया। 17 जुलाई, 1835 को उनका निधन ढाका में हो गया। उनकी पुण्यतिथि को मेघालय में राजकीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है।



नई टिप्‍पणियों की अनुमति नहीं है.