परब नृत्य - Parab Nritya

परब नृत्य छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र के जगदलपुर के आसपास के धुरुवा जनजाति का लोकप्रिय नृत्य है। इसमें स्त्री - पुरुष सामूहिक रूप से हिस्सा लेते हैं। यह एक सैनिक नृत्य है, जिसमें पिरामिड बनाने जैसे विशेष करतब भी किये जाते हैं।

इस नृत्य में पुरुष श्वेत लहंगा, सलूखा और पगड़ी पहनते है, इस पगड़ी का पिछला भाग नर्तक के एड़ियों तक झूलता रहता है। नर्तक पगड़ी में मोर पंख लगते है। महिला नर्तक सफेद साड़ी, माथे पर सफेद पट्टी एवं घुंघरू पहने है।

इस नृत्य में बासुरी, ओलखाजा एवं ढोल का इस्तेमाल किया जाता है। ढोल के एक तरफ को हाथ से तथा दूसरे तरफ को लकड़ी के टुकड़े से बजाया जाता है। ध्वनि के साथ नर्तक करतब दिखाते हुए नृत्य करते है। इसमे पिरामिड बनाया जाता है।


EmoticonEmoticon