अटारी नृत्य - Ataari Nritya


"अटारी नृत्य" छत्तीसगढ़ बैगा जनजति के द्वारा किया जाने वाला एक पारंपरिक नृत्य है। यह नृत्य बघेलखंड के भूमिया बैगाओं का है।
इसके एक पुरुष के कंधे पर दो आदमी होते हैं। वादक इसमें पार्श्व में रहते हैं और एक आदमी ताली बजाते हुए भीतर बाहर आता जाता रहता है।

इन्हे भी देखें :
विश्व आदिवासी दिवस
छत्तीसगढ़ राज्य में स्थित अनुसूचित क्षेत्र
छत्तीसगढ़ में विशेष पिछड़ी जनजाति
विशेष पिछड़ी जनजातियों हेतु मुख्यमंत्री 11 सूत्री कार्यक्रम
अनुसूचित जनजातियों की समस्याएँ 
अनुसूचित जनजातियों की साक्षरता दर
अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम 1989


EmoticonEmoticon